आसमान को निहारना है तो अभी निहार लीजिए, हो सकता है कुछ सालों में आपको यह दिखना ही बंद हो जाए | जानिए इसकी वजह

यदि आपको आसमान को निहारना है तो अभी निहार लीजिए। टिमटिमाते तारों की झलक अपनी आंखों में ठीक प्रकार से बसा लीजिए। हो सकता है आने वाले समय में

Continue Reading

इन आसान स्टेप्स को फॉलो करें और मनाएं यह दिवाली नेचर वाली

आज हम बताएंगे कि दिवाली के इस सीजन कैसे आप एनवायरमेंट और इकोलॉजी को हेल्दी रख सकते हैं। और प्रकृति का ख्याल कर सकते हैं… इस दिवाली कुछ ऐसा

Continue Reading

जिस दिन नदियों के अधिकार की व्याख्या कर दी गई तो उनको प्रदूषण मुक्त करने की राह हो जाएगी आसान: केएन गोविंदाचार्य

देश के प्रमुख विचारक और चिंतक गोविंदाचार्य ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि गंगा में प्रदूषण को प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाना चाहिए। उन्होंने मांग की कि नदियों में

Continue Reading

मां गंगा के यशस्वी साधक

अविरल गंगा, निर्मल गंगा अनादि काल से भारत भूमि की पहचान रही है। इस पहचान पर किसी भी प्रकार के संकट को हमें सीधे अपने ऊपर संकट

Continue Reading

OMG! रहस्यमयी तरीके से बढ़ रही दिन की लंबाई, पैदा हो सकती है भयावह स्थिति, वैज्ञानिक वजह खोजने में जुटे

क्या आपको पता है हमारी धरती पर दिन का समय रहस्यमयी तरीके से लम्बा हो रहा है? जी हां; ये सही है और इससे वैज्ञानिक हैरान और परेशान हैं और वह इसकी वजह

Continue Reading

 पर्यावरण संरक्षण में कंपनियों का सामाजिक उत्तरदायित्व

एक प्रसिद्ध लेखक, अंतरराष्ट्रीय वक्ता और सूत्रधार क्रिस मासर ने पर्यावरण की निर्भरता के बारे में कहा, ‘हम विश्व के जंगलों के लिए जो कर रहे हैं, वह केवल एक दर्पण छवि है जो हम अपने और एक दूसरे के

Continue Reading

देश की नीतियां मानव केंद्रित की बजाए प्रकृति केंद्रित बनाई जाएं: बसवराज पाटिल

राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन व विवेकानंद विचार संस्थान की कोटा इकाई की ओर से सोमवार को मां चर्मण्यवती के पावन तट पर स्थित गोदावरी धाम पर नदी व पर्यावरण संरक्षण विषय पर आयोजित विचार

Continue Reading

नदियों को अपने स्वभाव में लौटाना है तो समाज और सत्ता के बीच तालमेल बैठाना जरूरी: गोविंदाचार्य

राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के संयोजक और चिंतन-विचारक केएन गोविंदाचार्य ने कहा है कि यदि देश की नदियों को बचाना है तो समाज और सत्ता के बीच

Continue Reading

राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन का ‘नदी संवाद’ कार्यक्रम: नदियों से जल निकासी की अधिकतम सीमा तय करने का कानून बनाने की मांग

दिल्ली के कान्स्टिट्यूशन क्लब में आयोजित राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के ‘नदी संवाद’ कार्यक्रम में सिंचाई, पेयजल आदि के लिए नदियों से निकाले जाने वाले जल की

Continue Reading
MORE TOPICS